11TH JPSC MAINS EXAM HALL STRATEGY

🌹RENESHA IAS🌹 
 ARTICLE BY RAVI SIR 
(DIRECTOR RENESHA IAS) 
9661163344... IAS JPSC




DEAR CANDIDATES

   "22 जून 2024  से 24 जून 2024 तक 11TH JPSC मुख्य परीक्षा"

का आयोजन किया जा रहा है. अत्यधिक मेहनत के बाद आप लोगों ने प्रारंभिक परीक्षा को क्लियर किया. प्रारंभिक परीक्षा स्क्रीनिंग टेस्ट होता है. उसके बाद मुख्य परीक्षा  के मार्क्स आपके मेरिट लिस्ट के निर्धारक होते हैं. 
     इस प्रकार कहा जा सकता है कि सिविल सेवा परीक्षा में मुख्य परीक्षा एक अत्यंत महत्वपूर्ण चरण है. हजारों की संख्या में प्रारंभिक परीक्षा में अभ्यर्थी जरुर सफल हो जाते हैं लेकिन अगर वास्तव में देखा जाए तो इनमें से 15-20% candidates की ही तैयारी मुख्य परीक्षा के अनुसार रहती है. 
     दूसरे शब्दों में मुख्य परीक्षा में  अगर आपकी तैयारी ठीक है तो निश्चित रूप से  के सिविल सेवा के फाइनल लिस्ट में अपना नाम देख सकते हैं. 

     जो पढ़ना था आप लोगों ने पढ़ लिया अब जरूरी है कि ऐसी रणनीति बनाई जाए जो... समान तैयारी में भी आपको प्राप्तांक  के मामले में 4 से 5% का लाभ दे सके.

   इसके लिए एग्जाम हॉल में प्रवेश करने से पूर्व और प्रवेश करने के बाद  स्ट्रेटजी अत्यंत महत्वपूर्ण होती है. इसके अलावा एग्जाम देने के बाद भी आपको कई सावधानियां रखनी पड़ेगी.

🇮🇳 क्या नहीं करें? 🇮🇳

1) अनावश्यक तनाव 

2) नकारात्मक विचार 

3) अनावश्यक वाद विवाद 

4) सोशल मीडिया में सक्रियता 

5) हद से ज्यादा रिलैक्स होना या हद से ज्यादा कॉन्फिडेंट होना 

6)  किसी भी प्रश्न को हल्के में ले लेना

7) परीक्षक अथवा किसी अन्य अभ्यर्थी के साथ वाद विवाद में ना पड़े.... किसी भी तरीके के कोई भी टेक्निकल फाल्ट नहीं करें और परीक्षक का हस्ताक्षर और आपके हस्ताक्षर नहीं छूटे इसका विशेष ध्यान रखिए.

8) एक से अधिक कलर के पेन का प्रयोग करने से बचे. 

9) नए पेन के प्रयोग करने से बचे 

10) किसी भी एग्जाम को देकर आप आते हैं उसके बाद उसके प्रश्न के लिए अनावश्यक रूप से परेशान होने की जरूरत नहीं है. उत्तर में थोड़ा बहुत अप डाउन भी हुआ है तो अगले एग्जाम की तैयारी कीजिए.
           यह देखा गया है अगर एक सब्जेक्ट में भी 140 से अधिक मार्क्स आ गए है तो कैंडिडेट का इंटरव्यू कॉल हो जाता है.....
 अगर बाकी सब्जेक्ट एवरेज रहे हो.







🇮🇳क्या करें? 🇮🇳

1) अपने एडमिट कार्ड, पैन, फोटो, आईडेंटिटी कार्ड इत्यादि अवश्य सुरक्षित रख ले 

2) रिपोर्टिंग टाइम से कम से कम आधा घंटा पहले अपने सेंटर पर उपस्थित रहे 

3) दिमाग को शांत रखें और सकारात्मक रखें 

4) प्रश्न को ध्यान पूर्वक पढ़ें और  प्रश्न के अनुसार उत्तर दें. उत्तर देने के दौरान बीच-बीच में प्रश्न को जरूर देखते रहें.


5) भूमिका और निष्कर्ष को इफेक्टिव बनाएं.

6) उत्तर लेखन के दौरान प्रेजेंटेशन को बेहतर रखें और राइटिंग स्किल प्रभावी होना चाहिए

7) एग्जाम हॉल में किसी भी अन्य अभ्यर्थी से सलाह मशविरा या बातचीत करने से बचे.

8) किसी भी प्रश्न को देखकर परेशान होने की जरूरत नहीं है. प्रत्येक प्रश्न के कुछ कीवर्ड होते हैं उसको टारगेट करके उत्तर लिखना शुरू कीजिए.

     किसी भी प्रश्न में अगर आप थोड़ा ज्यादा उलझ रहे हैं अथवा अननोन किस्म का प्रश्न हो......तो उसका कुछ स्ट्रक्चर बना लीजिए. उससे संबंधित सभी प्रकार के ज्ञान को दिमाग में संकलित करने का प्रयास करें. 

👉🏻 उसे टॉपिक के संदर्भ में परिभाषा परिचय 
👉🏻 इस टॉपिक के संवैधानिक पहलू
👉🏻 इस टॉपिक के ऐतिहासिक राजनीतिक सामाजिक धार्मिक पहलू 
👉🏻 इस टॉपिक से संबंधित सरकारी योजनाएं अधिनियम अथवा निजी प्रयास 
👉🏻 टॉपिक में क्या मानचित्र किस संभावना है अथवा किसी करंट डाटा योजना इत्यादिक की संभावना है?
👉🏻 सुप्रीम कोर्ट हाई कोर्ट etc के द्वारा कुछ निर्णय दिया गया है?

     इसके अलावा उसके आलोचना और सकारात्मक पक्ष पर सोच सकते हैं अपने विचार पर सोच सकते हैं उत्तर अपने आप तैयार हो जाएगा.

8) राज्यपाल की भूमिका को तो आप आराम से लिख लेंगे.

 लेकिन अगर

👉🏻 झारखंड के विशेष संदर्भ में पूछा गया है तो उसका अर्थ नहीं है केवल झारखंड के संदर्भ में लिख दीजिए.. बल्कि के अन्य भूमिकाओं को भी लिखना है जिसमें झारखंड के संदर्भ के पॉइंट्स को विशेष महत्व देना है.

👉🏻 " राज्यपाल को संवैधानिक भावनाओं के अंतर्गत कार्य करना चाहिए ना कि केंद्र सरकार के एजेंट के रूप में" 

    क्या आप राजपाल के भूमिका के संदर्भ में इस कथन से आप सहमत हैं?

 यहां पर राजपाल के भूमिका को भी लिखना है और ऊपर वाले कथन के संदर्भ में आपका क्या विचार हैं तर्क सहित बताना है.

👉🏻 इसी तरीके से अन्य विवादित पहलुओं पर आपके विचार पूछे जा सकते हैं...

      विचार देते समय बस इतना ध्यान रखना है कि आपके विचार तर्क पूर्ण  हो....  इसके बाद आप किसी भी पक्ष में जा सकते हैं कोई दिक्कत नहीं है और बीच-बीच में भी रह सकते हैं.

9) झारखंड से संबंधित कोई भी आर्थिक पहलू आते हैं तो घबराने की जरूरत नहीं है

👉🏻 झारखंड के बजट से अगर कुछ आते हैं तो भारतीय बजट के जो प्रणालियों हैं उसको प्रयोग करते हुए झारखंड से संबंधित डाटा को दे दीजिए

👉🏻 झारखंड के  वृद्धि दर जनसंख्या इत्यादि के प्रश्नों में अलग-अलग आंकड़ों का प्रयोग कर अपने विश्लेषण क्षमता और मानचित्र के माध्यम से टॉपिक को स्पष्ट कर सकते हैं.

       किसी भी प्रश्न को देखकर परेशान नहीं होना है उसका उत्तर उसे प्रश्न में छुपा हुआ रहता है. 

10) आपका उत्तर सतही नहीं होना चाहिए.... और उत्तर में बेहतर फ्लो होना चाहिए ताकि परीक्षक नंबर देने को मजबूर हो जाए.

11) समय प्रबंधन अत्यंत महत्वपूर्ण है चारों प्रश्नों को समान महत्व दीजिए.

12) किसी उत्तर के आंतरिक संतुलन का भी अत्यधिक महत्व है यहां पर भी आपको प्रश्न के डिमांड के अनुसार प्रश्न सभी पहलुओं को उचित महत्व देते हुए उत्तर देना है.

13) अंत में सिनॉप्सिस और टारगेट टॉपिक पर विशेष ध्यान देना है 

14) प्रश्न के अंत में आलोचना परीक्षण समीक्षा आपके विचार इत्यादि पूछे जा सकते हैं उसको नजरअंदाज नहीं करें. 
     अन्यथा आपको मार्क्स का नुकसान उठाना पड़ेगा.

14) पेज नंबर सीमित होते हैं.... इसलिए उस पेज का प्रबंध भी बेहतर तरीके से करें.

15) MCQ के चार ऑप्शन को ध्यान से पढ़िए अधिकांश उत्तर आप लोग बना पाएंगे. 

    ऑप्शन को स्पष्ट रूप से लिखना है. अगर परीक्षक आपके ऑप्शन को नहीं पढ़ पाएगा तो आपको नुकसान हो सकता है. ऑप्शन के साथ आप शब्दों में भी उत्तर लिखने ज्यादा बेहतर रहेगा.

🇮🇳 बहुत बेहतर रहेगा एग्जाम 
अपने आप पर भरोसा रखें...🇮🇳

👉🏻 अच्छे रैंक लाने का टारगेट लेकर एग्जाम को देने का प्रयास करें

👉🏻 बस एक ही चीज ध्यान रखिए की सभी प्रश्नों के मार्क्स बराबर होते हैं उसे शुरू में लिखें या अंत में लेकिन महत्व बराबर दें.


🇮🇳 बहुत-बहुत शुभकामनाएं अंतिम सफलता के लिए और आधिकारी के रूप में झारखंड राज्य की सेवा करने के लिए🇮🇳

THANKS
RAVI SIR 
SONY MAM

TEAM RENESHA IAS 


Comments

Popular posts from this blog

IRRIGATION IN JHARKHAND झारखंड में सिंचाई के साधन JPSC PRE PAPER 2 AND JPSC MAINS

मुंडा शासन व्यवस्था JPSC

Multi dimensional poverty index 2023 बहुआयामी निर्धनता सूचकांक 2023