लक्षद्वीप विवाद और समाधान by रवि सर

🌹RENESHA IAS🌹

BY.....

✍️ RAVI KUMAR... (IAS JPSC UPPSC INTERVIEW FACED)

🌹🌹 लक्षद्वीप विवाद और समाधान 🌹🌹 

✍️ रवि सर की प्रस्तुति



✍️ DIRECTOR

🌹 RENESHA IAS 🌹 

🌹 लोक सेवा आयोग के सभी परीक्षाओं और इंटरव्यू के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण 🌹 

5 दिसंबर 2020 को प्रफुल पटेल





को लक्षद्वीप का प्रशासक बनाया गया... यहां आने के बाद ही उन्होंने कुछ भावी निर्णय के लिए ऐसा ड्राफ्ट तैयार किया जिसके कारण लक्ष्यदीप में असंतोष की लहर दौड़ पड़ी . 

पहले हम लोग जान लेते हैं कि प्रफुल्ल पटेल के द्वारा जो ड्राफ्ट बनाया गया है उसमें क्या-क्या है?? 

1) जिस व्यक्ति के 2 से अधिक बच्चे हैं उन्हें पंचायत चुनाव में लड़ने का अधिकार नहीं होगा या अन्य चुनाव लड़ने का अधिकार नहीं होगा.

2) जमीन अधिग्रहण करने के लिए सरकार किसी भी क्षेत्र को प्लानिंग एरिया घोषित कर सकती है... उसके बाद जमीन का अधिग्रहण किया जा सकता है.

3) लक्षदीप में वीफ पर प्रतिबंध लगाया जाएगा जबकि एमडीएमएस (मिड डे मील स्कीम )में पहले ही प्रतिबंध लगाया जा चुका है. 

🌹 वीफ के अंतर्गत शामिल होंगे गाय भैंस और बैल के मांस.... जिससे एनिमल प्रोटक्शन एक्ट के तहत लागू किया जाएगा.🌹 

4) गैर कानूनी गतिविधियों में शामिल किसी भी व्यक्ति को 1 वर्ष के लिए जेल में रखा जा सकता है. 

ड्राफ्ट में यह प्रावधान एंटीसोशल रेगुलेशन एक्ट के तहत लाया गया है.


🌹 सरकार ने अपने पक्ष में क्या तर्क दिया है उसे समझने का प्रयास करें?🌹 

1) लक्षदीप विकास की दौड़ में पूरी तरह से पिछड़ चुका है... अब इसे एक विकसित केंद्र शासित प्रदेश बनाया जाएगा. 

2) महिलाओं को समानता का अधिकार देने के लिए 50% का आरक्षण प्रदान किया जाएगा. 

3) लक्षदीप में मालदीव की तरह विकास हेतु 50 मीटर चौड़ी चौड़ी सड़कें बनेंगी और बहुमंजिला इमारतें बनेगी.... ताकि बाह्य निजी निवेश आकर्षित किया जा सके. 

🌹 इसके अलावा प्रशासक प्रफुल्ल पटेल के द्वारा कुछ विशेष तर्क भी दिए गए हैं जैसे 🌹 

4) पिछले 2 महीनों के दौरान लगभग 500 करोड रुपए के ड्राइवर और अवैध हथियार लक्ष्यदीप के समुद्री सीमा पर पकड़े गए हैं. 

5) गांजा के अवैध व्यापार भी लक्ष्यदीप में अत्यधिक बढ़ गए हैं. 

🌹लक्षदीप के जनप्रतिनिधि और आम जनता इसका विरोध क्यों कर रहे हैं???🌹 

लक्षदीप के एकमात्र सांसद मोहम्मद फैजल का कहना है कि हम विकास के विरोधी नहीं हैं लेकिन कोई भी निर्णय लिया जाए तो उसमें जन सहमति जरूर हो क्योंकि यह विधानसभा जैसे संस्थाएं नहीं है.... 

1) लक्षदीप में 96% जनसंख्या मुस्लिमों की है... वीफ का एक प्रमुख भोज्य पदार्थ है... इस तरह से अचानक रोक लगा देना आम जनता को नागवार गुजरा है. 

2) दो बच्चे से अधिक होने पर पंचायत चुनाव लड़ने पर पाबंदी से संबंधित प्रावधान के आशंका के कारण भी विरोध के स्वर उठ रहे हैं. 

3) किसी भी क्षेत्र को प्लानिंग एरिया घोषित कर पहले से किसी व्यक्ति के द्वारा चलाए जा रहे किसी गतिविधि को रोकने के लिए नोटिस जारी किए जाने लगे हैं जिसके कारण भी लोग असंतुष्ट हैं.... उनका कहना है कि वह पीढ़ी दर पीढ़ी इस छोटे से दीप के संसाधनों का प्रयोग कर रहे हैं आज इस तरह का प्रतिबंध क्यों? 

4) गिरफ्तारी से संबंधित प्रावधान का सबसे ज्यादा विरोध हो रहा है क्योंकि इस तरह की गिरफ्तारी एक लोकतांत्रिक देश में उचित नहीं कही जा सकती. 

🌹 SUBSCRIBE RENESHA IAS
U TUBE CHANNEL 🌹 

5) जनता का कहना है कि पूरे लक्षदीप में डर का माहौल उत्पन्न हो गया है.... इस माहौल से बाहर करने के उत्तरदायित्व अप सरकार की ही है. 

6) जनता का यह भी कहना है कि लक्षदीप में अपराध की दर अत्यंत कम है और सामान्य रहन-सहन है... अतः कोई कानून की जरूरत नहीं है जो इनके सामान्य जनजीवन को प्रभावित करे. 

🌹 इस संकट का समाधान क्या है??? 🌹

( रवि सर के विचार से )

✍️ एक चीज हमेशा याद रखें अगर सिविल सेवा के मुख्य परीक्षा में आपको सफल होना है तो चाहे कोई भी टॉपिक आप पढ़ रहे हो कोई न्यूज़ पढ़ रहे हो हमेशा आप अपने विचार जरूर रखें और इस टॉपिक से संबंधित पक्ष और विपक्ष  को जरूर सोचें.... कोई जरूरी नहीं है कि मैंने जो विचार लिख दिया उससे आप सहमत ही हों.... आपकी असहमति भी हो सकती है लेकिन तर्क आधारित होनी चाहिए जबरन नहीं.... इस तरीके से आप किसी भी टॉपिक का स्टडी करेंगे तो आपको कभी भी मुख्य परीक्षा या इंटरव्यू में समस्या नहीं आएगी  🌹

मेरे विचार से... लक्षद्वीप में जो समस्या उत्पन्न हुई और जो जनअसंतोष उत्पन्न हुआ है उसके समाधान के लिए वर्तमान में निम्न उपाय किए जा सकते हैं 

1) भारत एक लोकतांत्रिक देश है और लक्षद्वीप 70000 जनसंख्या की प्रतिनिधि संस्था वास्तव में संसद ही है क्योंकि लक्षद्वीप एक केंद्र शासित प्रदेश है... इस स्थिति में प्रशासक प्रफुल्ल पटेल... आम जन सहमति के विचारों को जानकर ही बनाई गई ड्राफ्ट को अंतिम रूप दें. 

2) अगर दो बच्चों से अधिक होने पर चुनाव लड़ने पर रोक का कानून पूरे देश में सामान्य रूप से लागू नहीं है तो लक्षदीप में शायद अभी लागू करना उचित नहीं है.... क्योंकि वहां की छोटी सी जनसंख्या के लिए पहले से ही कोई विधानसभा जैसी प्रतिनिधि संस्था नहीं है.... एक पंचायत चुनाव होते हैं उसमें भी अगर इस तरह की रोक लगा दी जाएगी तो जनभागीदारी पर विपरीत प्रभाव पड़ सकता है.... और सीमित लोगों का नियंत्रण प्रतिनिधि संस्थाओं पर स्थापित हो सकता है. 

3) बीफ पर रोक अगर पूरे भारत में सामान्य रूप से लगा दिया जाता है तो निश्चित रूप से यहां पर भी लग सकती थी .... लेकिन जब वहां की 96% जनता मुस्लिम है... और लंबे समय से वहां का मुख्य भोजन रहा है तो इस तरह से अचानक रोक लगाने की जगह अगर इस संदर्भ में जागरूकता फैलाया जाए और वैकल्पिक व्यवस्था की जाए तो ज्यादा उचित होगा. 

4) लक्षद्वीप कई छोटे-छोटे द्वीपों का एक द्वीप समूह है..... यह किसी भी तरह की वृहद प्रोजेक्ट को लागू करना शायद ही संभव होगा.... यह एक प्रवाल द्वीप समूह है... अतः पर्यावरणीय दृष्टिकोण से भी यहां विकास परियोजनाओं को एक सीमा से ज्यादा लागू करना संभव नहीं है....
भूमि अधिग्रहण करने के दौरान इन तथ्यों का ध्यान रखना होगा.... और साथी वहां के मूल निवासी जो लंबे समय से लक्षद्वीप में रह रहे हैं.... उन्हें भी अचानक भूमि के प्रयोग संबंधी अधिकारों से वंचित कर देना उचित नहीं है. 

(🌹 by RAVI SIR.... RENESHA IAS 🌹) 

5) एक बात और....लक्षद्वीप हो या अंडमान निकोबार... भारत के लिए रणनीतिक दृष्टिकोण से अत्यंत महत्वपूर्ण है.... रणनीतिक दृष्टिकोण का अर्थ होता है 

✍️ सैन्य दृष्टि से 

✍️ सुरक्षा की दृष्टि से 

आप एक ऐसे द्वीप को जो भारत के लिए रणनीतिक दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण है किसी भी रूप में अशांति के दौर में नहीं ले जा सकते हैं... क्योंकि इससे भविष्य में भारत के लिए ही समस्याएं उत्पन्न हो सकते हैं... अंडमान निकोबार और लक्षद्वीप जैसे द्वीपों पर ऐसे भी विदेशी शक्तियों की कुदृष्टि लगी हुए रहती है. 

लेकिन प्रशासक प्रफुल्ल पटेल के द्वारा लक्षदीप में हथियारों और ड्रग्स के बढ़ते अवैध कारोबार के बारे में जो जानकारी दी गई है निश्चित रूप से चिंताजनक है.... ऐसे तत्वों के विरुद्ध जितनी कठोर कानून बन सकती है बननी चाहिए इसमें कोई प्रॉब्लम नहीं है.




🌹 RAVI SIR की प्रस्तुति..... यह आर्टिकल यूट्यूब पर वीडियो क्लास के रूप में उपलब्ध है.. वहां  भी जरूर देखें🌹





Comments

Popular posts from this blog

IRRIGATION IN JHARKHAND झारखंड में सिंचाई के साधन JPSC PRE PAPER 2 AND JPSC MAINS

मुंडा शासन व्यवस्था JPSC

Multi dimensional poverty index 2023 बहुआयामी निर्धनता सूचकांक 2023