ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल 2020 की रिपोर्ट

🌹RENESHA IAS🌹

 BY.....

✍️ RAVI KUMAR... (IAS JPSC UPPSC INTERVIEW FACED)

 ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल की रिपोर्ट 2020 में....




✍️ भारत का स्थान कुल 180 देशों में पिछले वर्ष के 78 के मुकाबले 86 हो गया है. भारत का पिछली बार भ्रष्टाचार सूचकांक का मान 41 था.... जबकि इस बार 40 है.

✍️ इसका यह अर्थ है कि भारत की स्थिति खराब हुई है. कोरोना काल में भारत में भ्र्ष्टाचार बढ़े है.

✍️ भारत में जहां पाकिस्तान और नेपाल जैसे पड़ोसी देशों से कम भ्रष्टाचार है वहीं चीन से अधिक भ्रष्टाचार है.

✍️ चीन का रैंक 78 है.... जबकि नेपाल का 117 और पाकिस्तान का 124.

✍️ सबसे कम भ्रष्टाचार डेनमार्क और न्यूजीलैंड में है. जबकि सबसे अधिक भ्रष्टाचार दक्षिण सूडान और सोमलिया में है.

✍️ अमेरिका में पिछले वर्ष के मुकाबले भ्रष्टाचार बढ़ा है. इस बार अमेरिका का रैंक 67 है.

🌹 ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल की वर्ष 2019 की रिपोर्ट 🌹

आज हम लोग बात करने वाले हैं भ्रष्टाचार बोध सूचकांक 2019 की.


      विभिन्न सिविल सर्विसेज एग्जाम्स के साथ-साथ एक दिवस एग्जाम्स के लिए भी यह  महत्वपूर्ण टॉपिक है. कई बार इससे सीधे-सीधे भारत के रैंकिंग से संबंधित प्रश्न पूछ दिए जाते हैं तो कई बार भारत के रैंकिंग से संबंधित या पड़ोसी देश और ब्रिक्स देशों के साथ भारत के तुलनात्मक रैंकिंग से संबंधित प्रश्न पूछे जाते रहे हैं.

           आप लोग किसी भी टॉपिक्स को चाहे वह एक दिवसीय एग्जाम हो या सिविल सर्विस मुख्य परीक्षा हो.......हर जगह पहले टॉपिक को समझें. 

      भ्रष्टाचार बोध सूचकांक 2019

 जनवरी 2020 जनमत संस्था ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल के द्वारा भ्रष्टाचार बहुत सूचकांक 2019 जारी किया गया. विश्व में भारत का स्थान 80th था. जब के बीच 100 अट्ठारह की रिपोर्ट में भारत का स्थान 78th था.

                  अब आप सोच रहे होंगे आखिर यह रैंकिंग किस ढंग से दी जाती हैं. रैंकिंग देने के लिए भ्रष्टाचार बोध सूचकांक का प्रयोग किया जाता है. इस सूचकांक का मान

 0-100   के बीच होता है.

0-          पूर्ण रूप से भ्रष्ट देश

100-      पूर्ण रूप से भ्रष्टाचार रहित देश.
          
        इसे मैं दूसरे तरीके से समझाता हूं. ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल की रिपोर्ट में सर्वाधिक भ्रष्टाचार बोध सूचकांक वाले देश सबसे कम भ्रष्ट होंगे वही सबसे कम भ्रष्टाचार बोध सूचकांक वाले देश सबसे अधिक भ्रष्ट होंगे.

        2019 की रिपोर्ट में न्यूजीलैंड और डेनमार्क के भ्रष्टाचार बोध सूचकांक 86 है. इस वर्ष विश्व के सबसे कम भ्रष्ट देश बने. वही सोमालिया का भ्रष्टाचार बोध सूचकांक 9 है. यह विश्व का सबसे भ्रष्ट देश है. इसका रैंक 180th है.

    भारत और पड़ोसी देश

श्रीलंका         93th
पाकिस्तान   120th
बांग्लादेश    146th

     भारत अपने पड़ोसी देशों की अपेक्षा सबसे कम भ्रष्ट है.

 भारत और ब्रिक्स देश
 रूस               28th
 ब्राजील           35th
दक्षिण अफ्रीका  70th
भारत चीन         80th

       भारत की स्थिति ब्रिक्स देशों में सबसे खराब है.

          भारत का भ्रष्टाचार बोध सूचकांक 41 है जबकि रैंकिंग 78th है.
         भ्रष्टाचार बोध सूचकांक के मामले में एक तकनीक बहुत ही काम करते हैं. समान्य  रूप से ऑस्ट्रेलियन महाद्वीप के देश और स्कैंडिनेविया( नॉर्वे, स्वीडन डेनमार्क) देश इस सूचकांक में अच्छी स्थिति में रहते हैं. जबकि मध्य अफ्रीकन देश और कुछ पश्चिम एशियाई देश स्थिति बहुत खराब रहती है. एशिया में जापान,  दक्षिण कोरिया और सिंगापुर कम भ्रष्ट देशों में शामिल है.

 (Care:
स्कैंडिनेविया देशों को फिनलैंड, आइसलैंड और फेरो दीप समूह के साथ नॉर्डिक देश कहते  हैं)

STAY WITH US
IAS JPSC BPSC SSC
Ravi Kumar

( आप हमें फेसबुक ग्रुप युटुब चैनल टेलीग्राम ग्रुप पर ज्वाइन करें )

क्लासेज by रवि सर 

.

Comments

Popular posts from this blog

IRRIGATION IN JHARKHAND झारखंड में सिंचाई के साधन JPSC PRE PAPER 2 AND JPSC MAINS

मुंडा शासन व्यवस्था JPSC

Multi dimensional poverty index 2023 बहुआयामी निर्धनता सूचकांक 2023